ALL हिमाचल-पंजाब-लेह लद्दाख-कश्मीर विजय पथ-सम्पादकीय-लेख-खास रपट हरियाणा- राजस्थान उत्तर प्रदेश-उत्तराखंड-बिहार दिल्ली सोनभद्र-मिर्ज़ापुर राजनीति-व्यापार-सिनेमा-समाज-खेती बारी देश-विदेश मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़-झारखंड लोकल साथी
हिमाचल में पीरपंजाल की पहाड़ियों को भेदकर बनाई गई है अटल सुरंग
September 25, 2020 • Vijay Shukla • हिमाचल-पंजाब-लेह लद्दाख-कश्मीर

हिमाचल में पीरपंजाल की पहाड़ियों को भेदकर बनाई गई है अटल सुरंग

 

  • तीन अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा की जाएगी लोकार्पित
  • जनजातीय जिला लाहौल-स्पीति के लोगों तथा भारतीय सेना के लिए मील का पत्थर साबित होगी यह सुरंग
  • मंत्री डा. रामलाल मारकंडेय प्रधानमंत्री के दौरे को सफल बनाने में जुटे


विवेक अग्रवाल

लोकल न्यूज ऑफ इंडिया 
शिमला।हिमाचल में पीरपंजाल की पहाड़ियों को भेदकर बन रही अटल सुरंग जनजातीय जिला लाहौल-स्पीति के लोगों तथा भारतीय सेना के लिए मील का पत्थर साबित होगी। इस सुरंग के बन जाने से देश की सुरक्षा के साथ साथ स्थानीय लोगों और पर्यटन क्षेत्र को भी फ़ायदा होगा। 3200 करोड़ की सुरंग बनने से अब लाहौल स्पीति से मनाली की दूरी 47 किलोमीटर कम हो जाएगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तीन अक्टूबर को अटल सुरंग रोहतांग का लोकार्पण करेंगे। उसके बाद वह जनसभा को भी संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री कार्यालय ने उनके दौरे की तिथि निर्धारित कर दी है।

प्रधानमंत्री सुरंग से गुजरने वाली बस को हरी झंडी दिखाएंगे। वर्ष भर सेना व लोगों के लिए यह सुरंग खुली रहेगी ऐसे में बर्फ़बारी के दौरान अब लाहौल स्पीति को 6 महीने बंद का दंश नही झेलना पड़ेगा। तकनीकी शिक्षा एवं जनजातीय विकास मंत्री डॉ. रामलाल मार्कंडेय इन दिनों मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर के दिशा निर्देशों के अनुसार लगातार इस आयोजन को सफल बनाने के लिए जुटे हुए हैं और लगातार जायजा ले रहे हैं। हिमाचल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उनके चुनाव क्षेत्र में आ रहे हैं इससे मंत्री हर कदम की समीक्षा कर रहे हैं ताकि कोई भी चूक न रहे। हो सकता है प्रधानमंत्री इस चुनाव क्षेत्र के लिए कोई और वरदान देकर जाएं।

गौर योग्य बात यह भी हैै कि सुरंग बनने से लेह तक पहुंचने के लिए सेना को 12 महीने आसानी होगी और लाहौल घाटी भी शेष विश्व से जुड़ी रहेगी जिससे स्पीति, पांगी और लददाख के लोगों को फायदा होगा। बर्फ से जुड़े हुए साहसिक खेल भी अब लाहौल स्पीति में आयोजित किये जायेंगे। कार्यक्रम के अनुसार लाहुल के बुजुर्गों को सम्मानित कर सबसे पहले बस से सुरंग पार कराई जाएगी। पत्रकारों से बातचीत में तकनीकी शिक्षा एवं जनजातीय विकास मंत्री डॉ. रामलाल मार्कंडेय ने कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के निर्देश पर सिस्सू या केलंग में जनसभा होगी। लाहुल स्पीति प्रशासन के साथ बैठक कर जनसभा के लिए जगह का जल्द चयन किया जाएगा। हालांकि अंतिम फैसला एसपीजी करेगी।

प्रशासन दोनों स्थानों पर जनसभा के लिए तैयारी करेगा। मंत्री ने कहा कि यह लाहुलियों के सपनों की सुरंग है। इसलिए हर लाहुली इसके उद्घाटन के पलों का बेसब्री से इंतजार कर रहा है। लाहुल के लोग पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी सहित उनके सखा अर्जुन गोपाल को हमेशा याद रखेंगे। पूर्व प्रधानमंत्री ने 2002 में रोहतांग के साउथ पोर्टल में सड़क की आधारशिला रखी थी।