ALL हिमाचल-पंजाब-लेह लद्दाख-कश्मीर विजय पथ-सम्पादकीय-लेख-खास रपट हरियाणा- राजस्थान उत्तर प्रदेश-उत्तराखंड-बिहार दिल्ली सोनभद्र-मिर्ज़ापुर राजनीति-व्यापार-सिनेमा-समाज-खेती बारी देश-विदेश मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़-झारखंड लोकल साथी
प्रदेश सरकार गरीब और मध्यम वर्ग को किफायती स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया करवाने के लिए निरंतर प्रयासरत: डॉ. राजीव सैजल
November 13, 2020 • Vijay Shukla • हिमाचल-पंजाब-लेह लद्दाख-कश्मीर

प्रदेश सरकार गरीब और मध्यम वर्ग को किफायती स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया करवाने के लिए निरंतर प्रयासरत: डॉ. राजीव सैजल

 

गौरव सूद 

लोकल न्यूज ऑफ़ इंडिया 

धर्मशाला।  स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा आयुर्वेद मंत्री डॉ. राजीव सैजल ने कहा कि प्रदेश सरकार गरीब और मध्यम वर्ग को किफायती स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया करवाने के लिए निरंतर प्रयासरत है। शहरों के साथ-साथ दूरदराज व ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को अत्याधुनिक लेकिन किफायती स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करवाने के लिए स्वास्थ्य क्षेत्र को विशेष प्राथमिकता प्रदान की गई है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा वर्तमान वित वर्ष में स्वास्थ्य एवं आयुर्वेद सेवाएं उपलब्ध करवाने पर 3009 करोड़ रुपये व्यय किये जा रहे हैं।
  स्वास्थ्य मंत्री आज शुक्रवार को बैजनाथ विधानसभा क्षेत्र के अन्तर्गत ग्राम पंचायत कंदराल के मैगजीन में 61 लाख रुपये की लागत से निर्मित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का उद्घाटन करने के उपरांत बोल रहे थे।
उन्होंने कहा कि इस प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के खुलने से कंदराल, हरेड़ तथा उतराला के लगभग 2500 लोगों को घर के नजदीक स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध होगी।


  स्वास्थ्य  मंत्री ने कहा कि गंभीर बीमारियों से पीड़ित व्यक्तियों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए आरम्भ की गई सहारा योजना के तहत पात्र रोगियों को 3000 रुपये प्रतिमाह की दर से वित्तिय सहायता प्रदान की जा रही है।
  डॉ.  राजीव सैजल ने कहा कि प्रदेश में आयुष्मान भारत योजना की तर्ज पर ‘‘हिमकेयर योजना’’ कार्यान्वित की जा रही है। इस योजना के तहत पंजीकृत परिवार के पांच सदस्य पांच लाख रुपये तक प्रतिवर्ष निःशुल्क चिकित्सा सुविधा का लाभ उठा रहे है।

उन्होंने कहा कि वृद्धजनों को सम्मान देते हुए सामाजिक सुरक्षा पेशन पाने की आयु सीमा को 80 वर्ष से घटाकर 70 वर्ष किया गया तथा इसमें कोई आय सीमा भी नहीं रखी गई है। उन्होंने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र मैगजीन की चारदीवारी के लिए धन उपलब्ध करवाने का आश्वासन दिया।

स्वास्थ्य मंत्री ने लोगों से अपील की कि कोरोना संक्रमण अभी खत्म नहीं हुआ है। इसीलिए सार्वजनिक स्थलों पर मास्क का प्रयोग अवश्य करें, सामाजिक दूरी बनाए रखें, समय-समय पर अपने हाथ अच्छी तरह से धोते रहें तथा किसी भी प्रकार के बुखार, खांसी जुकाम इत्यादि के लक्षण होने पर तुरंत स्वास्थ्य विभाग से सम्पर्क करें।
  इसके उपरांत स्वास्थ्य मंत्री ने राजीव गांधी राजकीय स्नातकोत्तर आयुर्वेदिक महाविद्यालय एवं चिकित्सालय पपरोला में राष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस एवं धन्वंतरि जयंती के उपलक्ष्य पर आयोजित कार्यक्रम में शिरक्त कर पूजा अर्चना की। उन्होंने कहा यह दिन आयुर्वेद के जनक भगवान धन्वन्तरि की जयंती होने के कारण राष्ट्रीय दिवस के रूप में मनाया जाता है।
              उन्होंने बताया कि इस वर्ष के आयुर्वेद दिवस का आयोजन कोविड-19 महामारी  के प्रबंधन में आयुर्वेद की भूमिका पर केन्द्रित है। उन्होंने बताया कि आयुर्वेद दिवस का उद्देश्य आयुर्वेद और उसके विशिष्ट उपचार तरीकों की शक्तियों पर ध्यान केन्द्रित करना है। इस अवसर पर वेबिनार का आयोजन किया गया जिसमें प्रतिभागियों ने कोविड-19 महामारी  के प्रबंधन में आयुर्वेद की भूमिका पर प्रकाश डाला।
  डॉ. सैजल ने कहा कि प्रदेश सरकार भारत की प्राचीन चिकित्सा पद्धति ‘आयुर्वेद’ को मजबूत करने के लिए प्रभावी प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि आयुर्वेद जीवन का विज्ञान है और हमें प्रकृति एवं पर्यावरण से मित्रता की सीख देता है तथा ये मौजूदा समय के मधुमेह, हृदयरोग, उच्च रक्तचाप और कैंसर इत्यादि जैसे गैर संचारी स्वास्थ्य विकारों से बचाव में बेहद उपयोगी है। आयुर्वेद के अनुरूप जीवनयापन की आदर्श पद्धति अपनाकर तथा संतुलित भोजन, व्यायाम एवं योग के माध्यम से इस प्रकार के रोगों से बचा जा सकता है। इस दौरान महाविद्यालय में क्विज प्रतियोगिता में प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान पर रहे छात्र व छात्राओं को सम्मानित किया। इसके अतिरिक्त आयुर्वेदिक चिकित्सालय में विभिन्न सेवाएं देने के लिए विभिन्न प्रतिभूतियों को सम्मानित किया गया।इसके उपरांत स्वास्थ्य मंत्री ने महाविद्यालय परिसर में अशोक का पौधा रोपित किया।

घोषणाएँ
महाविद्यालय के सौंदर्यीकरण के लिए 10 लाख, फॉर्मेसी ड्राइंग शेड के लिए 10 लाख, स्टोरेज गोडाउन के लिए 10 लाख तथा एमडीआर टीबी वार्ड में 4 बेड के लिए 5 लाख रुपये देने की घोषणा की। इसके अतिरिक्त अन्य मांगों पर सहानुभूति पूर्वक विचार करने का आश्वासन दिया।

स्वास्थ्य मंत्री ने आयुर्वेदिक महाविद्यालय पपरोला में 11.34 लाख रुपये की लागत की टीबी जांच की आधुनिक मशीन मुख्यमंत्री क्षय निवारण योजना के तहत लोकार्पित की। उन्होंने बताया की आयुर्वेदिक विभाग में यह पहली मशीन स्थापित की गई है।

स्वास्थ्य मंत्री ने राजीव गांधी राजकीय स्नातकोत्तर आयुर्वेदिक महाविद्यालय, पपरोला में व्याख्यान केन्द्र का उद्घाटन किया।  

इसके उपरांत स्वास्थ्य मंत्री ने महाविद्यालय में योग और प्राकृतिक चिकित्सा केंद्र, अनुशास्त्र शल्य ईकाई एवं और जलोका  प्रजनन केन्द्र, गहन चिकित्सा कक्ष का उद्घाटन किया।

स्वास्थ्य मंत्री ने सुनी जन समस्याएं
  इस दौरान डॉ. सैजल ने लोगों की समस्यायों को सुना। अधिकतर समस्याओं का मौके पर ही निपटारा कर दिया गया उन्होंने शेष समस्याओं के समाधान के लिये सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिये।

  इस अवसर पर बैजनाथ  के विधायक मुल्ख राज प्रेमी ने स्वास्थ्य मंत्री का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के कुशल नेतृत्व में बैजनाथ का सर्वागींण विकास सुनिश्चित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि होली-उतराला सड़क का कार्य प्रगति पर है। क्षेत्र में पेयजल, सिंचाई, शिक्षा, स्वास्थ्य के क्षेत्रों पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है।

  इस अवसर पर मंडलाध्यक्ष भीखम कपूर, महामंत्री मुलखराज शर्मा, उपाध्यक्ष अंजू कटोच,  अनुसूचित जनजाति मोर्चा के अध्यक्ष रामप्रकाश राणा, सह सयोंजक आई टी विभाग भाजपा मंडल बैजनाथ मनसा राम भंगालिया,राजीव गांधी राजकीय स्नातकोत्तर आयुर्वेदिक महाविद्यालय एवं चिकित्सालय पपरोला के प्रधानाचार्य डॉ. नरेश शर्मा, सयुंक्त निदेशक आयुर्वेद डॉ. राखी सिंह,  सीएमओ डॉ. गुरदर्शन गुप्ता, चिकित्सा अधीक्षक डॉ. कुलदीप वरवाल, प्रधान ग्राम पंचायत हरेड़ रमेश चंद, कंद्राल की प्रधान उमा देवी, दविन्द्र सिंह राणा सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी, आयुर्वेदिक महाविद्यालय पपरोला का स्टाफ, छात्र व छात्राएं तथा स्थानीय लोग मौजूद थे।