ALL हिमाचल-पंजाब-लेह लद्दाख-कश्मीर विजय पथ-सम्पादकीय-लेख-खास रपट हरियाणा- राजस्थान उत्तर प्रदेश-उत्तराखंड-बिहार दिल्ली सोनभद्र-मिर्ज़ापुर राजनीति-व्यापार-सिनेमा-समाज-खेती बारी देश-विदेश मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़-झारखंड लोकल साथी
शराब व्यवसायियों पर मेहरबान है सरकार : वशिष्ट कुमार गोयल
August 29, 2020 • Vijay Shukla • राजनीति-व्यापार-सिनेमा-समाज-खेती बारी

शराब व्यवसायियों पर मेहरबान है सरकार : वशिष्ट कुमार गोयल

  • सरकार सोमवार और मंगलवार को भी नहीं बंद करेगी शराब की दुकानें
  • सरकार को जनता की नहीं राजस्व की चिंता

शक्तिराज

लोकल न्यूज ऑफ इंडिया 
गुड़गांव।कोरोना महामारी को रोकने के लिए सरकार द्वारा शनिवार और रविवार को विभिन्न संस्थानों को बंद करने का निर्णय से पलटना पड़ा है। व्यापारियों की समस्या को देखते हुए सरकार ने शनिवार और रविवार को बाजार खोलने की अनुमति देते हुए अब सोमवार और मंगलवार को बंद रखने का ऐलान किया है। हैरानी की बात तो यह है कि सरकार अभी भी शराब व्यवसायियों पर मेहरबान है। क्योंकि सरकार को शराब की दुकानों को खोले रखने का मतलब तो यही नजर आता है कि सरकार को जनता की नहीं बल्कि राजस्व की ज्यादा चिंता है। यह कहना है नव जन चेतना मंच के संयोजक वशिष्ठ कुमार गोयल का।
श्री गोयल ने कहा कि सरकार अगर बाजार बंद कर सकती है तो शराब की दुकानें क्यों नहीं क्या जहां ज्यादा राजस्व मिलेगा उन संस्थानों को इसी तरह खोल कर जनता की आंखों में धूल झोंकने का काम किया जाएगा। वशिष्ठ कुमार गोयल ने कहा कि शराब की दुकानों पर सबसे अधिक शराबियों की भीड़ होती है जो शराब के नशे में महामारी को ज्यादा फैला सकते हैं। इस स्थिति में सरकार को अगर सप्ताह में 1 दिन भी बाजार बंद रखना है तो तत्काल प्रभाव से शराब की दुकानों को दें बंद करने का आदेश देना चाहिए और सभी व्यापारियों और व्यवसायियों को एक निगाह से देखना चाहिए।