ALL हिमाचल-पंजाब-लेह लद्दाख-कश्मीर विजय पथ-सम्पादकीय-लेख-खास रपट हरियाणा- राजस्थान उत्तर प्रदेश-उत्तराखंड-बिहार दिल्ली सोनभद्र-मिर्ज़ापुर राजनीति-व्यापार-सिनेमा-समाज-खेती बारी देश-विदेश मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़-झारखंड लोकल साथी
स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर देश विदेश के नामचीन कवियों द्वारा किया गया  काव्य पाठ
August 15, 2020 • Vijay Shukla • सोनभद्र-मिर्ज़ापुर

स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर देश विदेश के नामचीन कवियों द्वारा किया गया  काव्य पाठ

त्रिरत्न शुक्लेश 
लोकल न्यूज ऑफ इंडिया 
म्योरपुर,सोनभद्र।बदलाव मंच गुमला एवं गीताश्री साहित्य भारती परिषद झारखंड के  तत्वाधान में देश और विदेश के 74 नामचीन कवियों द्वारा ऑनलाइन काव्य पाठ स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर किया  गया। कार्यक्रम 4 चरणों में  हुआ ।यह स्वयं में विश्व रिकॉर्ड होगा । इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सर्व श्री तुफैल अहमद जी मस्कट ओमान  ने  आओ नया हिंदूस्तान बनाएं । बदलाव मंच के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष एवं राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित दीपक क्रांति  ने यह सारा  जिस्म बोझ से  दुख रहा होगा सुना कर क्रांतिकारियों के त्याग को सराहा अपनी मंच संचालन से  सभी को भाव विभोर कर दिया। अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त  विभा तिवारी देश प्रेम से संबंधित कविताएं  को सुनाकर ओतप्रोत कर दिया ।विशिष्ट अतिथि  डॉक्टर सुनील कुमार पारीट व डा अनुज कुमार चौहान ने अपनी रचनाओं से समा को बांधे रखा एवं मुख्य स्वागतकर्ता वरिष्ठ साहित्यकार डॉ सत्यम भास्कर  भ्रमरपुरिया रहे । मातृशक्ति अध्यक्षा रूपा व्यास  जी ने बताया कि दुनियाभर के कई देशों से अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त कवि एवं कवियत्री इस कार्यक्रम में प्रतिभाग किए। कार्यक्रम  प्रारंभ होने से पूर्व माता सरस्वती के छाया चित्र पर माल्यार्पण किया गया  । सरस्वती वंदना के साथ राष्ट्रगान का पाठ गणवीर माधवी,वंदना शर्मा शिवांगी मिश्रा मेघा जोशी द्वारा संयुक्त रूप से किया गया ।बदलाव मंच के  महिला प्रकोष्ठ की अध्यक्ष रूपा व्यास  तकनीकी प्रमुख कमलेश कुमार गुप्ता  एवं अमित राज क्या रंजन कुमार वर्मा  डॉक्टर सत्यम भास्कर  भ्रमरपुरिया राजनारायण गुप्ता कैमी ने राष्ट्र द्रोहियों सुनो रहा हूं तुम्हें ललकार सुना कर  देशद्रोहियों को  चेताया ।रजनी शर्मा चंदा अर्चना फौजदार सागर यादव जख्मी जी ने किया  संचालन सहयोग  स्वाति जैसलमेर या वर्षा जैन सुजीत संगम मधु वैष्णव माननीय  शशिकांत शशि अंजनी कुमार द्विवेदी ने किया जिसमें शशिकांत  शशि वर्षा जैन सुजीत  संगम मधु वैष्णो माननीय आशीष शर्मा इंडोनेशिया से जुड़े बहरीन से अनुपम  सिंगर, विपिन पांडेय, राहुल कुमार गुप्ता मुबारक आलम अभिषेक कुमार गुमला एक से बढ़कर एक रचना सुनाई कार्यक्रम की अध्यक्षता कमलेश कुमार गुप्ता ने किया तथा संचालन दीपक क्रांति ने किया।