ALL हिमाचल-पंजाब-लेह लद्दाख-कश्मीर विजय पथ-सम्पादकीय-लेख-खास रपट हरियाणा- राजस्थान उत्तर प्रदेश-उत्तराखंड-बिहार दिल्ली सोनभद्र-मिर्ज़ापुर राजनीति-व्यापार-सिनेमा-समाज-खेती बारी देश-विदेश मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़-झारखंड लोकल साथी
विद्यालयों में शिक्षकों की उपस्तिथि को लेकर जारी शासनादेश से पैदा हुई उहापोह की स्तिथि साफ़ करे बीएसए - शीतल दहलान , जिला अध्यक्ष , उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ , सोनभद्र 
September 2, 2020 • Vijay Shukla • सोनभद्र-मिर्ज़ापुर

विद्यालयों में शिक्षकों की उपस्तिथि को लेकर जारी शासनादेश से पैदा हुई उहापोह की स्तिथि साफ़ करे बीएसए - शीतल दहलान , जिला अध्यक्ष , उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ , सोनभद्र  

 
 
सूर्यमणि कनौजिया 
लोकल न्यूज ऑफ़ इंडिया 
सोनभद्र। जनपद में ताजा ताजा जारी एक शासनादेश से शिक्षकों में एक उहापोह की स्तिथि बन गयी है जिसको लेकर उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ की जिला अध्यक्ष शीतल दहलान ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी से मांग की है कि  वो इसको स्पष्ट करे।  पूरा मामला  मुख्य सचिव उत्तर प्रदेश के दिनांक 30/08/2020 के शासनादेश संख्य2007/2020/सी.एक्स-3 के गाइड लाइन अनुपालन के क्रम में जिला मैजिस्ट्रेट /जिलाधिकारी सोनभद्र के दिनांक 31/08/2020 के पत्रांक 5728/जे.एनिषेधाज्ञा/ कोविड- 19/एल ओ आर डी /2020 के आदेशानुसार जिसके पैरा 1 मे उल्लिखित निम्न आदेश पर हुआ है।  जिसमे 
 

1. समस्त स्कूल कॉलेज, शैक्षिक एवं कोचिंग संस्थान सामान्य शैक्षिक कार्य हेतु 30 सितम्बर 2020 तक बंद रहेंगे। यद्यपि निम्न गतिविधियों को शुरू करने की अनुमति होगी

a. ऑनलाइन शिक्षा हेतु अनुमति जारी रहेगी और इसे प्रोत्साहित किया जाएगा।

b. 21 सितम्बर 2020 से स्कूल में कार्यरत 50% teaching /non teaching स्टाफ को ऑनलाइन शिक्षा /परामर्श हेतु बुलाया जा सकता है।

 
उपरोक्त आदेश के क्रम में जनपद मे कार्यरत शिक्षकों मे दुविधा की स्थिति बनी हुई है। आपको बता दे कि ,पहले के आदेशों के अनुपालन मे शिक्षक लगातार विद्यालय में उपस्थिति होकर विभागीय कार्यो को संपादित करते आ रहे हैं। और अगर इस आदेश की माने तो अब यह मामला बदल सकता है जिसको लेकर शीतल दहलान ने कहा कि जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी  महोदय से अनुरोध है कि उपरोक्त आदेश के आलोक में हमारा उचित मार्गदर्शन कर आदेश जारी करने का कष्ट करें ताकि शिक्षकों की दुविधा समाप्त हो सके।
             
क्या है शासनादेश :