ALL हिमाचल-पंजाब-लेह लद्दाख-कश्मीर विजय पथ-सम्पादकीय-लेख-खास रपट हरियाणा- राजस्थान उत्तर प्रदेश-उत्तराखंड-बिहार दिल्ली सोनभद्र-मिर्ज़ापुर राजनीति-व्यापार-सिनेमा-समाज-खेती बारी देश-विदेश मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़-झारखंड लोकल साथी
विवाह-शादी की खुशियों के बीच कोरोना से बचाव जरूरी: नवीन गोयल
November 20, 2020 • Vijay Shukla • हरियाणा- राजस्थान

विवाह-शादी की खुशियों के बीच कोरोना से बचाव जरूरी: नवीन गोयल

  • कोरोना व प्रदूषण से बचाव को मिलकर करें प्रयास
  • कैनविन फाउंडेशन लॉकडाउन से लेकर अब तक इसी प्रयास में जुटी
  • कोरोना जांच शिविर लगाने के साथ प्लाज्मा डोनेशन में भी अग्रणी है संस्था

ऋतू सैनी 

लोकल न्यूज ऑफ़ इंडिया 

गुरुग्राम। पर्यावरण प्रदूषण बढऩे के साथ ही अब कोरोना महामारी भी बढ़ रही है। इन दोनों से बचाव के लिए हम सबको प्रयास करने हैं। तभी हम इंसानी जीवन को जानलेवा प्रदूषण और कोरोना से बचा सकते हैं। विवाह-शादियों की सीजन चल रहा है। इसलिए हमें अपनी इन खुशियों के बीच कोरोना से बचाव का भी पूरा ध्यान रखना चाहिए। यह हम सबकी जिम्मेदारी है। यह सलाह दी है चिकित्सा के क्षेत्र में अग्रणी संस्था कैनविन फाउंडेशन के सह-संस्थापक नवीन गोयल ने।  

नवीन गोयल ने कहा कि कोरोना महामारी से गुरुग्राम समेत पूरे देश में एकाएक पॉजिटिव केसों में बढ़ोतरी होती जा रही है। त्योहारी और विवाह-शादियों के इस सीजन में बाजारों व सामाजिक कार्यक्रमों में भीड़ होना लाजिमी है। इसके साथ ही हम सबको अपना बचाव करना भी इतना ही जरूरी है। बाजारों में हमें सामाजिक दूरी बनाने के साथ मास्क का उपयोग करना चाहिए। नियमों का पालन पुलिस के डर से नहीं बल्कि कोरोना महामारी से हो रही मौतों, इस जानलेवा बीमारी के डर से करें। कोई भी चीज हमारे जीवन से बढ़कर नहीं है। अपना जीवन बचाने को हमें यह ऐहतियात बरतनी जरूरी है।

नवीन गोयल ने कहा कि कैनविन फाउंडेशन की ओर से लगातार जिलावासियों, प्रदेशवासियों को विभिन्न माध्यमों से जागरुक करने का प्रयास किया जा रहा है। लॉकडाउन से लेकर अनलॉक तक कैनविन ने कोरोना महामारी से बचाव को अहम भूमिका निभाई है। साथ ही उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी से ठीक हुए लोग प्लाज्मा डोनेट करने को भी आगे आएं। संस्था उन्हें घर से लेकर आएगी और घर छोड़कर आएगी। यह हमारे पास मौका है कि हम अपना प्लाज्मा देकर दूसरों का जीवन बचाएं। हमें बीमारी के माध्यम से यह अवसर मिला है। यह हमारा सामाजिक, नैतिक कर्तव्य बनता है कि हम अपना प्लाज्मा डोनेट करके समाज को सकारात्मक संदेश दें। प्लाज्मा डोनेट करने से किसी तरह की शरीर में कोई कमजोरी नहीं आती। रक्तदान से भी बड़ा दान प्लाज्मा दान है। सभी कोरोना से ठीक हुए लोगों से उनकी यह अपील है कि वे प्लाज्मा डोनेट करने में किसी भी तरह से हिचकें नहीं।

कोरोना जांच शिविर भी लगवा रही संस्था
कैनविन फाउंडेशन के संस्थापक डीपी गोयल के मुताबिक प्लाज्मा डोनेट कराने के साथ-साथ संस्था लगातार कोरोना जांच शिविर भी लगवा रही है। नियमित तौर पर अलग-अलग क्षेत्रों में यह शिविर लगाए जा रहे हैं। बुधवार को भी जिले के 15 स्थानों पर निशुल्क कोरोना जांच शिविर लगाए गए। संस्था की यही प्रयास है कि किसी भी तरह से कोरोना महामारी से लोगों को जागरुक करके, जांच कराकर बचाया जाए। संस्था द्वारा अब तक 168 प्लाज्मा डोनेट कराए जा चुके हैं।